Breaking News
मुख्यमंत्री ने पंचायती राज विभाग के 350 कार्मिकों को प्रदान किये नियुक्ति-पत्र
मुख्यमंत्री ने किया मिशन सिलक्यारा नाटक का अवलोकन
मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से की मुलाकात
उत्तराखंड में बर्फबारी का अलर्ट, नागरिकों को सावधानी बरतने के दिए गए निर्देश
केजरीवाल को अब समन पर जाना होगा
शिवरात्रि को तय होगी केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि
मुख्यमंत्री ने 27 डिप्टी जेलरों तथा 285 बंदी रक्षकों को वितरित किए नियुक्ति-पत्र
निष्पक्ष निर्वाचन को लेकर विभाग विस्तृत कार्ययोजना करेंगे तैयार
बढ़ी संख्या में शिवभक्तों की भीड़ पहुंच रही हरिद्वार, “बम-बम भोले” के लग रहे जयकारे

यमकेश्वर : माननीय उच्च न्यायालय उत्तराखंड में वाद लंबित होने के बावजूद भी यमकेश्वर बिजनी बड़ी मे क्रेशर प्लांट में कार्य जारी

यमकेश्वर। यमकेश्वर के बिजनी बड़ी में लगाये जाने वाले स्टोन क्रेशर प्लांट का विवाद उत्तराखंड उच्च न्यायालय नैनीताल में लंबित है, जिसकी अगली सुनवाई 27 अप्रैल 2022 को होनी है। ग्रामीणों का कहना है कि जब तक न्यायालय से निर्णय नही आता है तब तक कार्य नही किया जा सकता है, लेकिन उसके बाद भी कार्य किया जा रहा है, जो कि कोर्ट के नियमो का खुला उल्लंघन है। स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि जिस जगह पर स्टोन क्रेशर की स्वीकृति मिली है, वह स्थान मुख्य मार्ग लक्ष्मणझूला सिलोगी मोटर मार्ग के किनारे है।

प्लांट के लिए खनिज आपूर्ती और बेचने के लिए मुख्य बाजार भी ऋषिकेश ही है पहले ही रोड की हालत बहुत ही दयनीय है उसमे बड़े बड़े डम्पर की आवाजाही बढ़ने से दुर्घटना के खतरे बढेंगे।
स्थानीय निवासियों ने मांग की है कि उक्त स्टोन क्रेशर प्लांट को अन्यत्र लगाया जाए क्योंकि जंहा पर स्वीकृत है वँहा पर मंदिर एवं धार्मिक स्थल है, एनजीटी नियमो का खुला उल्लंघन किया जा रहा है, अतः जब तक माननीय न्यायालय से निर्णय नही आ जाता तब तक कार्य को रोकने के लिये शासन प्रशासन से मांग कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top