देहरादून। उत्तर प्रदेश की सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा (पीसीएस) परीक्षा-2021 में उत्तराखंड के युवाओं का डंका बजा है। राज्य के दो युवाओं ने इस परीक्षा में टाप-10 में जगह बनाई है। रुद्रपुर निवासी चंद्रकांत बागोरिया ने पांचवां स्थान हासिल किया है। जबकि दून की बेटी मल्लिका नैन दसवें स्थान पर हैं। कुल 678 पदों के लिए आयोजित इस परीक्षा में 627 अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए हैं। ऊधम सिंह नगर निवासी चंद्रकांत बगोरिया ने यूपीपीसीएस 2021 में पांचवीं रैंक हासिल की है। चंद्रकांत ने पहले ही प्रयास में यह सफलता प्राप्‍त की। वह संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा भी दे चुके हैं। वह तीन बार इंटरव्यू तक पहुंचे थे। इस बार उन्‍होंने यूपीपीसीएस में बाजी मार ली है।

दून की बेटी ने मनवाया लोहा

दून के रायपुर रोड निवासी मल्लिका नैन ने यूपी-पीसीएस में खुद को साबित कर दिखाया है। वह अब उप जिलाधिकारी बनने की राह पर हैं। मल्लिका ने बताया कि उनके पिता राजेंद्र कुमार व्यवसायी हैं। वह काफी छोटी थीं, जब मां सुधा का देहांत हो गया।

एमए अर्थशास्त्र व बीएड किया

पिता ने उनकी हर ख्वाहिश का सम्मान किया और पिता के साथ-साथ मां की भी जिम्मेदारी निभाई। उन्होंने ही तमाम चुनौतियों व विपरीत परिस्थितियों के बावजूद आगे बढ़ना सिखाया। मल्लिका ने वर्ष 2011 में ब्रुकलिन स्कूल से 86 प्रतिशत अंक के साथ बारहवीं की। इसके बाद एमए अर्थशास्त्र व बीएड भी किया। वहीं, केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा भी वह पास कर चुकी हैं। यूपी-पीसीएस में उनका यह दूसरा प्रयास था। पहले प्रयास में वह सफल नहीं हुई थी। पर असफलता से सीख लेकर आगे बढ़ी और इस बार टाप-10 में जगह बनाई। उनकी छोटी बहन शिवांगी ने हाल ही में एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय की पीएचडी प्रवेश परीक्षा पास की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here