Breaking News
टनकपुर, काशीपुर व कोटद्वार रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास से आमजन को मिलेंगी अत्याधुनिक सुविधाएं : मुख्यमंत्री
बजट अभिभाषण- पुलिस के आधुनिकीकरण व महिला सुरक्षा पर विशेष फोकस
बजट सत्र- राज्यपाल ने सरकार की प्राथमिकता व विकास योजनाओं का ब्यौरा किया पेश
विधानसभा बजट सत्र का पहला दिन आज, यहां पढ़िए बजट सत्र से जुड़ी हर एक जानकारी
जौनसार बावर सांस्कृतिक महोत्सव में लोक कलाकारों के साथ झूमे मुख्यमंत्री
भारत ने इंग्लैंड को चौथे टेस्ट मैच में पांच विकेट से हराया
पीएम ने राजकोट से देश को 11,391.79 करोड़ की स्वास्थ्य परियोजनाएं की समर्पित
पीएम मोदी की ‘मन की बात’ का प्रसारण अगले तीन महीने तक बंद, जानिए वजह
CM धामी ने 10.77 लाख रूपए की लागत से निर्मित इंटरलॉकिंग टाइल्स निर्माण कार्य का किया लोकार्पण

अंकिता मर्डर केस- वीआईपी के सवाल पर कांग्रेस उतरी सड़क पर

भाजपा विधायक, वीआईपी पदाधिकारी व एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग

राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन डीएम  ने सौंपा

देहरादून। अंकिता भंडारी मर्डर केस में एक भाजपा नेता का कथित वीआईपी के तौर पर नाम उछलने के बाद कांग्रेस ने भाजपा की घेराबन्दी शुरू कर दी है। इस मुद्दे पर न्याय यात्रा निकालने से पूर्व कांग्रेस ने दून में धरना प्रदर्शन किया। अंकिता भंडारी के माता पिता द्वारा अंकिता की हत्या के मामले में वीआईपी के के नाम की पहचान करने के बावजूद सरकार द्वारा कोई कार्रवाई न करने तथा रिसोर्ट पर तत्काल जेसीबी चलाने वाले लोगों पर भी कोई कार्रवाई न होने से नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी कार्यालय में प्रदर्शन किया ।

जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को एक ज्ञापन भी प्रेषित किया। कांग्रेस महानगर अध्यक्ष जसविन्दर सिंह गोगी ने कहा कि सरकार मामले में दोषियों को बचाने का प्रयास कर रही है। अंकिता के माता पिता के आरोपों के अनुसार संघ से जुड़े भाजपा पदाधिकारी को जांच की जद में लाया गया और न ही सबूतों को नष्ट करने के लिए तत्काल रिसॉर्ट पर जेसीबी चलाने का आदेश देने वाली विधायक रेणु बिष्ट और एसडीएम प्रमोद कुमार पर ही कोई कार्रवाई हुई।

ज्ञापन में कहा गया कि जांच में जिस वीआईपी का नाम आ रहा है वो आरएसएस और भाजपा का वरिष्ठ नेता है। ऐसे में धामी सरकार के पास इस मामले की जांच का नैतिक साहस ही नहीं है। जांच उच्च न्यायालय के सिटिंग जज की देखरेख में करवाई जाए। प्रदेश उपाध्यक्ष पूरण सिंह रावत ने कहा कि भाजपा लोगों की धार्मिक भावनाओं का इस्तेमाल कर चुनाव जीतती हैं और अगले पांच साल निरंकुश राज करती है। फिर से जब चुनाव आते हैं तो धार्मिक मुद्दे छेड़ कर लोगों में घृणा और द्वेष पैदा कर के राजनीतिक रोटियां सेकती है।

इस आड़ में अंकिता को न्याय, भूकानून जैसे अहम मुद्दे गौण हो जाते हैं। अब लोग भाजपा का असली चरित्र समझ चुके हैं और भाजपा की ये काठ की हांडी बार बार नहीं चढ़ने वाली। कांग्रेस इस मुद्दे को उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

इस अवसर पर प्रदेश महासचिव मनीष नागपाल ,महिला कांग्रेस महानगर अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला थापा ,मंजू त्रिपाठी, जगदीश धीमान ,अनूप कपूर, अभिषेक तिवारी ,सलमान ,वीरेंद्र पवार ,भूपेंद्र नेगी , अनिल शर्मा ,वकार अहमद ,मोहम्मद दानिश ,राहुल तलवार ,अमनदीप सिंह ,सुनील ,राजेश पुंडीर ,मरगूब आलम ,मुकीम अहमद ,रिपु दमन ,आदर्श शुद ,मुकेश रेगमी ,शहजाद अंसारी ,हेमंत उप्रेती ,अवधेश कथेरिया .परवीन कश्यप ,शकील ,रामबाबू ,मनीष गर्ग ,प्रवीण भारद्वाज ,मुस्लिम अंसारी ,मोहम्मद इस्लाम ,मोहम्मद वसीम , मोहम्मद फैजल ,गोपाल दास ,चुन्नीलाल ,मुंशी राम ,नवीन कुमार ,आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top