Breaking News
चारधाम यात्रा की लगातार मॉनिटरिंग करें अधिकारी : सीएम
प्रोमेट ने IntelliTouch के साथ हाई डेफिनिशन ट्रांसपेरेंट TWS ईयरबड्स लॉन्च किए
स्वाति मालीवाल मारपीट मामला:FIR दर्ज होने के बाद एक्शन में पुलिस, विभव की तलाश में जुटीं
चारधाम यात्रा – मंदिर परिसर के 50 मीटर के दायरे में रील बनाने पर लगा प्रतिबंध
पीओके में बढ़ता जा रहा है जनता का गुस्सा
पंचायत सीजन 3 का ट्रेलर हुआ रिलीज, एक बार फिर हंस-हंसकर लोटपोट होने के लिए रहें तैयार
विकसित भारत के निर्माण में योगदान देगा भाजपा को मिला हर एक वोट- सीएम धामी
मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने जारी किए दिशा निर्देश- मंदिर से 200 मीटर तक मोबाइल फोन को किया जाएगा प्रतिबंधित
स्लोवाकिया के प्रधानमंत्री पर जानलेवा हमला, 3 घंटे तक चली सर्जरी, अब खतरे से बाहर है रॉबर्ट फिको

आठ मई तक यमुनोत्री हाईवे पर प्रतिदिन तीन बार बंद रहेगा यातायात, जानिए वजह

इस समय बंद रहेगा हाईवे 

उत्तरकाशी। यमुनोत्री हाईवे पर धरासू बैंड के पास भूस्खलन जोन के उपचार व मलबे को हटाने के लिए अगले पांच दिन आठ मई तक प्रतिदिन तीन बार यातायात बंद रहेगा। इन पांच दिनों में लगभग साढ़े छह घंटे तक हाईवे बंद रहेगा। डीएम डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने इस संबंध में आदेश जारी कर चारधाम यात्रा को देखते हुए हाईवे पर शीघ्र भूस्खलन का मलबा हटाने का काम पूरा करने के निर्देश दिए हैं। दरअसल, यमुनोत्री धाम को जोड़ने वाले धरासू-यमुनोत्री हाईवे के शुरुआती हिस्से में सक्रिय भूस्खलन जोन का मलबा गिरने से ऋषिकेश-धरासू हाईवे भी बंद होता है।

इस हिस्से में हाल ही में नवीनतम तकनीक का इस्तेमाल कर चौड़ीकरण का कार्य पूरा किया गया था, जिसे देखते हुए डीएम ने यात्रा शुरू होने से पहले यमुनोत्री मार्ग पर जमा मलबे व पत्थरों को हटाकर दोनों सड़कों को सुरक्षित करने के निर्देश दिए हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग खंड ने इस स्थान पर भूस्खलन प्रभावित ढलान का स्थिरीकरण और स्केलिंग कार्य शुरू करने के साथ ही मलबे के सुरक्षित निस्तारण की कार्रवाई भी शुरू कर दी है।

इस काम के दौरान यमुनोत्री एवं गंगोत्री मार्ग पर चलने वाले यात्रियों व वाहनों की सुरक्षा को देखते हुए डीएम ने हाईवे पर तत्काल प्रभाव से आठ मई तक के लिए प्रतिदिन तीन बार हाईवे बंद करने के निर्देश दिए हैं।

ऐसे बंद रहेगा हाईवे

सुबह पांच से सुबह आठ बजे तक

सुबह 11:30 बजे से दोपहर 12:45 बजे तक

दोपहर 2:45 बजे से शाम पांच बजे तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top