Breaking News
चारधाम यात्रा- शासन ने दो अधिकारियों को बनाया यात्रा मजिस्ट्रेट
छत्तीसगढ़ में बारूद फैक्ट्री में विस्फोट, 7 लोग गंभीर रूप से घायल
क्रिमिनल जस्टिस 4 का टीजर आउट, कोर्ट रूम में माधव मिश्रा बन पेचीदा केस सॉल्व करते नजर आएंगे पंकज त्रिपाठी
आज विधि- विधान के साथ श्रद्धालुओं के लिए खोले गए हेमकुंड साहिब के कपाट
स्वास्थ्य विभाग को मिले 37 नये नर्सिंग अधिकारी
लोकसभा चुनाव 2024- आठ प्रदेशों में छठे चरण का मतदान जारी
महाराज के निर्देश पर आपदा से हुए नुकसान की जानकारी लेने पहुंचे प्रतिनिधि
मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से की चारधाम यात्रा की समीक्षा
‘चीरहरण हुआ मेरा, अब आप नेता विक्टिम शेमिंग में लगे हैं- स्वाति मालीवाल

‘पब्लिक आई’ नामक की कंपनी ने किया खुलासा, सेरेलेक जैसे फूड्स में होती है मिलावट

नई दिल्ली। बुधवार 17 अप्रैल को स्विट्जरलैंड की ‘पब्लिक आई’ कंपनी ने अपनी एक रिपोर्ट के जरिए नेस्ले कंपनी के दो बेबी-फूड ब्रांडों को लेकर बड़ा खुलासा किया है।‘पब्लिक आई’ की रिपोर्ट के मुताबिक नेस्ले कई गरीब देशों में बच्चों के दूध और सेरेलैक प्रोडक्ट्स में चीनी और शहद का मिलाती है। इन देशों की लिस्ट में भारत भी शामिल है। हालांकि नेस्ले ब्रिटेन, जर्मनी जैसे विकसित देशों में बेबी-फूड प्रोडक्ट्स के अंदर चीनी का इस्तेमाल नहीं करती। आपको बता दें कि नेस्ले स्विट्जरलैंड की एक जानी मानी कंपनी हैं, जिसके प्रोडक्ट्स पूरी दुनिया में फेमस हैं।

‘पब्लिक आई’ की रिपोर्ट के अनुसार नेस्ले ने एशिया, अफ्रीका और दक्षिण अमेरिका के देशों में नियमों का उल्लंघन किया है। वहीं कंपनी की ओर से कहा गया है कि भारत में सभी प्रकार से नियमों का पालन किया जा रहा है।

‘पब्लिक आई’ की रिपोर्ट में बताया गया है कि छह महीने तक के बच्चों के लिए दूध और सेरेलैक प्रोडक्ट्स में करीब 1 सर्विंग में एवरेज 4 ग्राम चीनी का इस्तेमाल किया जा रहा है। ‘पब्लिक आई’ ने इन सभी देशों के करीब 150 प्रोडक्ट्स को बेल्जियम स्थित लैब में भेजा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top