Breaking News
चारधाम यात्रा- शासन ने दो अधिकारियों को बनाया यात्रा मजिस्ट्रेट
छत्तीसगढ़ में बारूद फैक्ट्री में विस्फोट, 7 लोग गंभीर रूप से घायल
क्रिमिनल जस्टिस 4 का टीजर आउट, कोर्ट रूम में माधव मिश्रा बन पेचीदा केस सॉल्व करते नजर आएंगे पंकज त्रिपाठी
आज विधि- विधान के साथ श्रद्धालुओं के लिए खोले गए हेमकुंड साहिब के कपाट
स्वास्थ्य विभाग को मिले 37 नये नर्सिंग अधिकारी
लोकसभा चुनाव 2024- आठ प्रदेशों में छठे चरण का मतदान जारी
महाराज के निर्देश पर आपदा से हुए नुकसान की जानकारी लेने पहुंचे प्रतिनिधि
मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से की चारधाम यात्रा की समीक्षा
‘चीरहरण हुआ मेरा, अब आप नेता विक्टिम शेमिंग में लगे हैं- स्वाति मालीवाल

सीबीआई ने BRS नेता के कविता को तिहाड़ जेल से किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति मामले (Excise Policy Case) में बीआरएस एमएलसी के कविता को हिरासत में ले लिया है. कविता फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं.कोर्ट ने मंगलवार (9 अप्रैल) को ही भारत राष्ट्र समिति (BRS) की नेता के कविता की हिरासत 23 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दी थी. उन्हें न्यायिक हिरासत की अवधि खत्म होने पर कोर्ट में पेश किया गया था.

तेलंगाना में एमएलसी और बीआरएस नेता के चंद्रशेखर राव की बेटी के कविता को 15 मार्च को कथित दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गिरफ्तार किया था. बुधवार को सीबीआई ने दिल्ली की एक कोर्ट को सूचित किया था कि उन्होंने तिहाड़ जेल में भारत राष्ट्र समिति (BRS) नेता के कविता से पूछताछ की थी. के कविता को तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था.

100 करोड़ से ज्यादा की रिश्वत का आरोप
दिल्ली की कोर्ट ने 5 अप्रैल को CBI को कविता से जेल में पूछताछ करने की अनुमति दी थी, जिस आदेश को उसने चुनौती दी है. ईडी ने 15 मार्च को 46 वर्षीय के कविता को हैदराबाद के बंजारा हिल्स स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया था. के कविता पर ‘साउथ ग्रुप’ में एक प्रमुख सदस्य होने का आरोप लगाया गया है. जांच एजेंसियों का आरोप है कि उसने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शराब लाइसेंस में हिस्सेदारी के बदले में आम आदमी पार्टी (AAP) को 100 करोड़ से ज्यादा की रिश्वत दी थी.

जेल में बंद नेता के कविता ने मंगलवार को एक पत्र लिखा था और दावा किया था कि केंद्रीय एजेंसियों की जांच और ‘मीडिया ट्रायल’ ने उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया है और उनकी निजता पर हमला किया है. अपने पत्र में के कविता ने यह भी आरोप लगाया था कि संसद पटल पर, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने विपक्षी नेताओं को ‘ईडी दौरे’ की खुलेआम धमकी दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top