Breaking News
मुख्यमंत्री ने पंचायती राज विभाग के 350 कार्मिकों को प्रदान किये नियुक्ति-पत्र
मुख्यमंत्री ने किया मिशन सिलक्यारा नाटक का अवलोकन
मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से की मुलाकात
उत्तराखंड में बर्फबारी का अलर्ट, नागरिकों को सावधानी बरतने के दिए गए निर्देश
केजरीवाल को अब समन पर जाना होगा
शिवरात्रि को तय होगी केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि
मुख्यमंत्री ने 27 डिप्टी जेलरों तथा 285 बंदी रक्षकों को वितरित किए नियुक्ति-पत्र
निष्पक्ष निर्वाचन को लेकर विभाग विस्तृत कार्ययोजना करेंगे तैयार
बढ़ी संख्या में शिवभक्तों की भीड़ पहुंच रही हरिद्वार, “बम-बम भोले” के लग रहे जयकारे

लंबे और खूबसूरत बालों के लिए करवा रही हैं हेयर स्ट्रेटनिंग तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो पैसे चले जाएंगे बेकार

आजकल बाल स्ट्रेटनिंग का ट्रेंड काफी बढ़ गया है। लोग अपने बालों को सीधा और चमकदार बनाने के लिए बाल स्ट्रेट करवाते हैं। इससे बाल खूबसूरत और लंबे दिखने लगते हैं. लंबे और सुंदर बाल हर किसी को पसंद आता है ऐसे में लोग अपने बेजान और घुंघराले बालों को सीधे करवाकर अपनी पर्सनेलिटी में बदलाव लाना चाहते हैं ताकि वह देखने में सुंदर और आकर्षक लगें. लेकिन कई बार हम बाल स्ट्रेटनिंग के दौरान कुछ गलतियां कर देते हैं जिससे बाल और ज्यादा खराब हो जाता है। इसलिए स्ट्रेटनिंग से पहले कुछ बातों का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है। आइए जानते हैं यहां..

हेयर स्ट्रेटनिंग क्या होता है
हेयर स्ट्रेटनिंग दो तरह के होते हैं एक परमानेंट और दूसरा टेंपरेरी हेयर स्ट्रेटनिंग. परमानेंट स्ट्रेटनिंग एक केमिकल ट्रीटमेंट है, जिसकी मदद से आपके बाल हमेशा के लिए सीधे हो जाते है। अगर कुछ समय के लिए बालों का लुक बदलना चाहती हैं, तो टेंपरेरी हेयर स्ट्रेटनिंग लोग करवाना चाहते हैं।

शैंपू करने से बचें
बालों को स्ट्रेटनिंग करवाने में बालों पर केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है जो बालों के नैचुरल तेल को नष्ट कर देता है। ऐसे में बाल स्ट्रेटनिंग करवाने के बाद कम से कम एक हफ्ते तक बालों को शैंपू से बचाना चाहिए.शैंपू में मौजूद केमिकल्स और साबुन बालों की सतह को और अधिक सूखा व नाजुक बना सकते हैं। इससे बाल टूटने और झडऩे लगेंगे. इसलिए स्ट्रेटनिंग के बाद कम से कम एक सप्ताह तक बिना शैंपू के ही बाल धोएं. इसके लिए अलग शैंपू आता है। आप हमेशा उसी शैंपू का इस्तेमाल करें।

कंघी कम करें
बाल स्ट्रेटनिंग की प्रक्रिया में बालों की जड़ों केमिकल का भरपूर इस्तेमाल होता है इससे बाल मुलायम तो हो जाते हैं लेकिन वह कमजोर हो जाती हैं। ज्यादा कंघी करने से बालों पर  खिंचाव होता है जिससे पतले और कमजोर बाल टूटने लगते है. इसलिए सावधानी बरतें और हल्के हाथों से ही कंघी का प्रयोग करें।

कंडीशनर का इस्तेमाल करें
बाल स्ट्रेटनिंग की प्रक्रिया के बाद बालों पर केमिकल और हीट की वजह से काफी असर पड़ता है। जिससे बाल नाजुक हो जाते हैं। ऐसे में बालों की  देखभाल के लिए कंडीशनर का इस्तेमाल जरूर करें. कंडीशनर में मॉइस्चराइजिंग होता है जो बालों की नमी को बनाए रखते हैं। यह बालों को हाइड्रेट और स्मूथ बनाए रखता है. साथ ही बालों को उनके प्राकृतिक तेल और पोषण देता रहता है. इससे बालों को स्ट्रेटनिंग के साइड इफैक्ट्स से बचाने में मदद मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top